विशाल लोहचब

1996 में पैदा हुए विशाल लोहचब, प्रोफेसर डॉ हंस-वर्नर गेसमैन के सबसे युवा वैज्ञानिक सहायक हैं।

विशाल लोहचब, जर्मन, अंग्रेजी और हिंदी भाषा में इंटरनेशनल सेंटर फॉर क्लीनिकल साइकोलॉजी एंड साइकोथेरेपी (ICCPP) कोस्त्रोमा, रूस में वैज्ञानिक लेखों और प्रकाशनों पर काम करते हैं।

* भाषा कौशल: जर्मन, अंग्रेजी, हिंदी, पंजाबी और हरियाणवी।

* विशाल लोहचब क्लीनिकल साइकोलॉजी में एमए (मास्टर ऑफ आर्ट्स) कर रहे हैं।

* उन्होंने स्वामी शारदानंद कॉलेज, दिल्ली, भारत (2014-2017) से बीए (कला स्नातक) पूरा किया।

* उन्होंने ट्यूलिप इंटरनेशनल स्कूल, दिल्ली, भारत (2014) से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की।

विशाल लोहचब को प्रोफेसर डॉ हंस-वेर्नर गेसमैन के साथ काम करने का मौका पसंद है। उन्होंने “होमलेसनेस एंड साइकिक ट्रॉमा” के बारे में एक पुस्तक लिखना शुरू किया, जिसे ICCPP में प्रकाशित किया जाएगा।

प्रकाशन
[१] विकिपीडिया हिंदी में – हंस-वर्नर गेसमैन, अक्टूबर २०१ ९ |